सावधान! व्हाट्सएप ग्रुप में कोई भी कर सकता है घुसपैठ, गूगल सर्च पर है हर प्राइवेट चैट

नई दिल्ली। व्हाट्सएप की प्राइवेसी पॉलिसी पर हंगामा अभी थमने वाला नहीं है। इसलिए कि इस सोशल मैसेजिंग ऐप में इसी बीच एक और बड़ी कमी निकल आई है। बताया जा रहा है कि हर व्हाट्सएप ग्रुप चैट का इनवाइट लिंक बहुत ही आसानी से गूगल सर्च पर है। इस लिंक से कोई भी यूजर के ग्रुप का हिस्सा बन सकता है। फिर वहां की चैट ही नहीं, बल्कि प्रोफाइल फोटो समेत पूरी जानकारी हासिल कर सकता है।

ऐसी कमी सबसे पहले 2019 में सामने आई थी। तब काफी हो-हल्ले के बाद इसे सुधार लिया गया था। लेकिन पुरानी समस्या एक बार फिर उजागर हो गई है। इसके कारण व्हाट्सएप के यूजर की गोपनीयता खतरे में पड़ गई है। यह दावा इंटरनेट सिक्यॉरिटी रिसर्चर राजशेखर ने किया है। इस सिलसिले में उनके ऐसे ट्वीट से तूफान खड़ा हो गया है। उनके मुताबिक, व्हाट्सएप ग्रुप की हर इनवाइट लिंक गूगल सर्च पर है। ऐसे मामले सामने आ रहे हैं जहां प्राइवेट ग्रुप में अन्जान शख्स की घुसपैठ देखी गई। इस दावे पर जब विशेषज्ञों ने पड़ताल की तो इसे सही पाया। व्हाट्सएप ग्रुप चैट इंडेक्स होने पर ग्रुप लिंक को वेब पर सर्च किया जा सकता है। इन लिंक पर क्लिक करके कोई भी प्रोफाइल फोटो, फोन नंबर जैसी जानकारी हासिल कर सकता है। यदि ध्यान ना दिया जाए तो अन्जान लोग लंबे समय तक व्हाट्सएप ग्रुप में रह सकते हैं। चिंता की बात यह भी है कि इन घुसपैठियों को व्हाट्सएप ग्रुप से हटा भी दिया जाए, तब भी उनके फोन नंबर वहां मौजूद ही रहते हैं।

इस बीच व्हाट्सएप कंपनी ने कहा है कि मार्च 2020 के बाद से व्हाट्सएप ने सभी लिंक पेजों के लिए नोइंडेक्स टैग लागू कर दिया है। इस तरह ये पेज गूगल की इंडेक्सिंग से बाहर हैं। वैसे यह व्यवस्था भी लागू है कि जब भी कोई नया यूजर किसी व्हाट्सएप ग्रुप में शामिल होता है तो वहां सभी यूजर्स को नोटिफिकेशन दिखाई देता है। ग्रुप एडमिन इसे देख सकता है और यदि कोई बाहरी शख्स ग्रुप में घुस आया है तो उसे बाहर निकालकर इनवाइट लिंक बदल सकता है। कंपनी ने यूजर से अपील है कि वे अपनी ग्रुप लिंक को गूगल पर शेयर ना करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *