भारत को जीत के लिए चाहिए 309 रन

नई दिल्ली। सिडनी टेस्ट के चौथे दिन खेल खत्म होने तक भारत ने दो विकेट पर 98 रन बना लिए हैं। चौथी पारी में भारत के सामने जीत के लिए 407 रनों का लक्ष्य है। इस तरह सोमवार को आखिरी दिन भारत को जीत के लिए 309 रन बनाने होंगे। इस समय चेतेश्वर पुजारा (9) और कप्तान अजिंक्य रहाणे (4) क्रीज पर टिके हुए हैं।
इससे पहले चौथे दिन का खेल शुरू होने पर मार्नस लाबुशेन (73) ने लगातार दूसरा अर्धशतक ठोका। उन्होंने पहली पारी में 91 रन बनाए थे। नवदीप सैनी ने लाबुशेन का विकेट लिया। इसके बाद उतरे मैथ्यू वेड कुछ खास नहीं कर सके और सैनी की गेंद पर आउट हो गए। पहली पारी में शतक जड़ने वाले स्टीव स्मिथ ने दूसरी पारी में 81 रन बनाए। हालांकि रविवार को आकर्षण कैमरन ग्रीन की पारी रही। सिर्फ तीसरा टेस्ट मैच खेल रहे ग्रीन ने आठ चौके और चार छक्कों की मदद से 84 रन बनाए। यह उनके टेस्ट करियर का पहला अर्धशतक भी रहा। उन्हें जसप्रीत बुमराह ने आउट किया। वैसे ऑस्ट्रेलिया ने छह विकेट खोकर 312 रन बनाने के बाद पारी घोषित कर दी। भारत की ओर से नवदीप सैनी और रविचंद्रन अश्विन ने दो-दो जबकि जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद सिराज ने एक-एक विकेट लिया।
इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने जीत के लिए भारत के सामने 407 रनों का लक्ष्य रखा। भारत की ओर से सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा और शुभमन गिल ने ठोस शुरुआत की। दोनों के बीच पहले विकेट के लिए 71 रनों की साझेदारी हुई। पहली पारी में अर्धशतक जड़ने वाले शुभमन गिल दूसरी पारी में 31 रन बनाकर जोश हेजलवुड का शिकार बन गए। वहीं रोहित शर्मा ने 98 गेंद पर पांच चौके और एक छक्के की मदद से 52 रन बनाए। उनका विकेट पैट कमिंस ने लिया। इसके बाद चौथे दिन पुजारा और कप्तान अजिंक्य रहाणे ने भारत को कोई और नुकसान नहीं होने दिया।

दर्शकों के चलते खेल रुका

ऑस्ट्रेलिया दौर पर गई भारतीय क्रिकेट टीम पर लगातार दूसरे दिन नस्लभेदी टिप्पणी की गई। रविवार को मैच के चौथे दिन दर्शकों के बीच से अभद्र टिप्पणी की गई। इसके कारण खेल करीब 15 मिनट रुका रहा। जब मोहम्मद सिराज बाउंड्री पर फिल्डिंग कर रहे थे, तब दर्शकों के बीच से उनके खिलाफ टिप्पणी की गई। सिराज ने पहले इसकी जानकारी अपने कप्तान अजिंक्य रहाणे को दी, जिन्होंने अम्पायर को बताया। गौरतलब है कि शनिवार को भी जसप्रित बुमराह और मोहम्मद सिराज के खिलाफ एक दर्शक ने नस्लीय टिप्पणी की थी। इसके बाद आरोपी दर्शक को बाहर भेज दिया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *