मोदी ने मिथिलांचल के मनोरथ को दी नई ऊंचाई

विमलनाथ झा, दरभंगा। बिहार में जहां पहले चरण का मतदान जारी है, वहीं दूसरे चरण के चुनाव प्रचार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को दरभंगा पहुंचे। ऐतिहासिक राज मैदान में प्रधानमंत्री ने माता सीता को याद किया। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की बधाई दी। कहा, मिथिला के महान कवि विद्यापति जी ने सीता मैया से प्रार्थना की थी। आज देखें तो बीते 15 वर्षों में नीतीश जी के नेतृत्व में बहुत आगे बढ़ा है। माता सीता आज अपने नैहर को निहार रही होंगी। सदियों की तपस्या के बाद अब अयोध्या में भव्य निर्माण शुरू हो गया है। ऐसे सियासी लोग जो बार-बार तारीख पूछा करते थे, बहुत मजबूरी में अब तालियां बजा रहे हैं। माता सीता के इस क्षेत्र में आकर मैं यहां के लोगों के लोगों को राम मंदिर निर्माण की बधाई देता हूं। भाजपा और एनडीए की पहचान यही है कि जो कहते हैं उसे करके दिखाते हैं। प्रधानमंत्री ने बुधवार को दरभंगा के अलावा मुजफ्फरपुर और पटना में भी चुनावी सभाएं कीं। इस तरह उन्होंने इन तीन जिलों के 35 विधानसभा क्षेत्रों के मतदाताओं से रूबरू हुए। इनमें से 10 सीटें जहां दरभंगा जिले की हैं, वहीं मुजफ्फरपुर की 11 और पटना की 14 सीटें हैं। पटना जिले में कुल 14 विधानसभा क्षेत्रों में से पांच में बुधवार को ही मतदान संपन्न हो गया।

दरभंगा में 11.30 बजे प्रधानमंत्री जब मंच पर आए तो लोगों ने ताली बजाकर जोरदार स्वागत किया। मखाना माला से स्वागत के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जनसमूह के सामने अपनी बातें रखीं। इसके बाद जैसे ही प्रधानमंत्री ने अपना संबोधन मैथिली में शुरू किया तो देर तक लोग ताली बजाते रहे। अपने 25 मिनट के भाषण में उन्होंने कई बार मैथिली में अपनी बातें रखीं। इसी दौरान उन्होंने जब मिथिला महत्ता – पग पग पोखरि माछ मखान, मधुर बोल मुस्की मुख पान- कहा तो लोगों ने खड़े होकर स्वागत किया। शुरूआत में मोदी ने कहा, मिथिला भूमि के नमन करै छी। बिहार के मुख्यमंत्री मेरे मित्र, मेरे भाई नीतीश कुमार को आपका आशीर्वाद जरूर मिलेगा। मुझे उम्मीद है। मधुबनी, समस्तीपुर से आप सभी आशीर्वाद देने आए हैं, इसका आभार है। आप डिजिटल से भी जुड़े हैं। आपके संकल्प को मैं प्रणाम करता हूं। आज पहले चरण का मतदान हो रहा है। जहां मतदान हो रहा, वहां कोरोना से बचने के लिए सतर्कता बरतें। कई साथियों को कोरोना हो गया है। मुझे उनके स्वास्थ्य की चिंता है। वे जल्द स्वस्थ हो जाएं, मैं प्रार्थना करता हूं। बता दें कि एनडीए में शामिल वीआईपी के नेता मुकेश सहनी को कोरोना हो गया है। इससे पहले उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को भी कोरोना हो गया था।

प्रधानमंत्री ने कहा, हमने कहा था कि हर किसान के बैंक खाते में सीधी मदद भेजेंगे। आज करीब-करीब एक लाख करोड़ रुपये की सीधी मदद किसान के खाते में जमा कराई जा चुकी है। हमने कहा था कि हर गरीब का बैंक खाता खोलेंगे। आज 40 करोड़ से ज्यादा गरीबों का बैंक खाता खुल चुका है। 2003 में जब नीतीश जी रेलमंत्री थे, तब अटल जी ने महासेतु का काम शुरू कराया था। केंद्र में एनडीए की सरकार बनने के बाद कोसी महासेतु का काम कई गुना तेजी से आगे बढ़ा। इससे 300 किलोमीटर की दूरी 20 से 22 किलोमीटर में सिमट गई। ऐसी सुविधाएं हर किसी को लाभ देती है। रोजगार के साधन पैदा करती है। यहां के लोगों को ऐसे ही कामों के लिए वोट डालना है। बिहार के विकास का अगला चरण है आत्मनिर्भर बिहार। पान, माछ और मखाना में आत्मनिर्भर बनाने की व्यापक क्षमता है। नीतीश के शासनकाल से पहले का जिक्र करते हुए कहा, पहले की सरकारों का मंत्र था-पैसा हजम, परियोजना खतम। उन्हें कमीशन शब्द से इतना प्रेम था कि कनेक्टिविटी पर कभी ध्यान ही नहीं दिया। ऐसे सुविधाएं किसान, व्यापारी, उद्योग जगत और विद्यार्थियों सबकी मदद करती है। विकास को रफ्तार देती है। बिहार के लोगों को ऐसे ही विकास के कामों को वोट करना है। बिहार में जंगलराज लाने वालों को फिर हराएंगे।

उन्होंने समस्तीपुर कृषि के रिसर्च का सेंटर का जिक्र किया। कहा-कर्पूरी ठाकुर ने जो सपने देखे थे, अब पूरे हो रहे। मछली के उत्पादन के लिए चारे तक के कई प्रोजेक्ट शुरू हो रहे। करोड़ों का निवेश होगा तो नए रोजगार शुरू होंगे। दूध, सब्जी, मछली कुछ भी हो, बिहार के बेहतरीन उत्पाद से संबंधी रोजगार होंगे। गांवों में कोल्ड स्टोरेज बनाया जा रहा है। गांवों में एक लाख करोड़ का निवेश किया जा रहा। किसानों को बिचौलियों से मुक्त किया जा रहा है। दरभंगा में एयरपोर्ट की आधुनिक सुविधाएं मिलने से पूरे मिथिलांचल की कनेक्टिविटी और सशक्त होगी। रामायण सर्किट का अहम हिस्सा होने के कारण मिथिलांचल में पर्यटन, तीर्थाटन की संभावनाओं का विस्तार होगा। दरभंगा में एम्स बनने से मिथिलांचल को बहुत बड़ी सुविधा मिलेगी। दरभंगा एम्स के लिए 1200 करोड़ रुपए से ज्यादा मंजूर किए गए हैं। एम्स बनने से यहां के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं तो मिलेंगी ही, मेडिकल की पढ़ाई की सीटें भी बढ़ेंगी। हमने कहा था कि हर गरीब बेटी के घर में मुफ्त गैस कनेक्शन पहुंचाएंगे, हमने बिहार की करीब 90 लाख बेटियों को धुएं से मुक्त किया है। हमने मुफ्त इलाज का वादा किया था, आज बिहार के भी हर गरीब को यह सुविधा मिल रही है। कोरोना के संकट में कहा था कि हर गरीब को मुफ्त में अनाज देंगे, तो यह भी हो रहा है। यह सब दुनिया को अचरज हो रहा है। हमने छठ पूजा तक मुफ्त राशन की व्यवस्था की है।

इस क्षेत्र में पानी से होने वाली बीमारियों पर भी उन्होंने बात की। कहा-इसका समाधान है कि हर घर में पीने का शुद्ध पानी पहुंचे। मैं दरभंगा और मधुबनी की ही बात करूं तो यहां 11 लाख से ज्यादा घरों को पाइप कनेक्शन से जोड़ा गया है। जल्द ही बिहार देश के उन राज्यों में होगा, जहां पीने का पानी पाइप से ही पहुंचेगा। किसी मां को अपना लाल, अपनी लाड़ली को खोना नहीं पड़ेगा। एनडीए का यही ट्रेंड बिहार को आश्वस्त करने वाला है। युवाओं के लिए रोजगार-स्वरोजगार लाएंगे। गरीबों के लिए जो 10 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था की गई है, उसका लाभ भी इस क्षेत्र के गरीबों को मिल रहा है। मिथिलांचल की कनेक्टिविटी को पीएम पैकेज से भी बहुत ताकत मिल रही है। इससे यहां हजारों किलोमीटर की सड़कों का काम हुआ है। 55 हजार करोड़ से भी अधिक बिहार के रोड़ नेटवर्क पर खर्च किए जा रहे हैं।

बहरहाल, मोदी के शासन में ऐसा पहली बार हो रहा है जब अमित शाह चुनावों में कहीं नजर नहीं आ रहे हैं। इस बार पूरा मोर्चा प्रधानमंत्री ने अकेले संभाल रखा है। बिहार में अब मोदी की छह रैलियां और होंगी। इनमे से तीन रैलियां एक नवंबर को छपरा, समस्तीपुर और पूर्वी चंपारण में हैं। जबकि, आखिरी तीन रैलियां तीन नवंबर को पश्चिमी चंपारण, सहरसा और अररिया के फारबिसगंज में होंगी। गौरतलब है कि बिहार में तीन चरणों में चुनाव हो रहा है। 71 सीटों के लिए जहां बुधवार को मतदान संपन्न हो गया, वहीं शेष सीटों पर तीन और सात नवंबर को वोट पड़ेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *