नया कोईलवर पुल चालू, पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से जुड़ेगा बिहार

पटना। राजधानी पटना को आरा से जोड़ने वाले कोईलवर पुल के सामानांतर सोन नदी पर बने नए पुल पर वाहन दौड़ने लगे हैं। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग से इसका उद्घाटन किया। कार्यक्रम में केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, अश्विनी चौबे, वीके सिंह, उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद व रेणु देवी, पथ निर्माण मंत्री मंगल पांडेय सहित कई मंत्री और विधायक मौजूद रहे। इस मौके पर गडकरी ने कहा कि आरा के लोग अगर प्रस्ताव भेजें तो इस पुल का नाम महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह के नाम पर रख दिया जाएगा।

यह पुल कोईलवर सड़क और रेल पुल के ठीक बगल में है। यूं तो डेढ़ किलोमीटर लंबा यह पुल छह लेन का है, लेकिन अभी इसके तीन लेन को ही खोला गया है। गडकरी ने बताया कि इस पुल के दूसरे लेन का भी काम अगले छह महीने में पूरा हो जाएगा। नया पुल फिलहाल वनवे रहेगा। अभी आरा से पटना आया जा सकेगा, लेकिन पटना से आरा जाने के लिए पुराने कोईलवर पुल का ही इस्तेमाल करना होगा। तब भी इस नए पुल से पुराने पुल पर लगने वाले जाम से लोगों को निजात मिल जाएगी। साथ ही एनएच-30 कॉरिडोर के पटना से भोजपुर, बक्सर, छपरा, मोहनिया और बलिया का यातायात सुगम हो जाएगा। यह स्वर्णिम चतुर्भुज की सड़क और पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के जरिए देश के अन्य हिस्से से सीधे जुड़ जाएगा। पुल की लंबाई 1.528 किलोमीटर है। पुल के डेक की चौड़ाई 16.0 मीटर है। ऊपर में 1.5 मीटर का फुटपाथ भी है। गौरतलब है कि यह पटना-बक्सर फोर लेन सड़क का हिस्सा है औैर अलग पैकेज के तहत इसका निर्माण हो रहा। इससे एनएच-30 और एनएच-84 जुड़ जाएगा। आरंभ में इसे चार लेन में ही बनाया जाना था पर भविष्य में ट्रैफिक लोड के बढऩे वाले दबाव को ध्यान में रख छह लेन में बनाने का फैसला हुआ। गौरतलब है कि पुराना कोईलवर पुल 158 साल पुराना है। इसका निर्माण कार्य 1856 में शुरू हुआ था। उद्घाटन 1858 में वायसराय लार्ड एल्गिन ने किया था। फिल्मकार रिचर्ड एटेनबेरो ने अपनी ऐतिहासिक फिल्म गांधी की शूटिंग इस पुल पर की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *