सर्वे में फिर नीतीश सरकार, 38 फीसदी वोट का अनुमान

पटना। बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर दूसरा सर्वे आ गया है। नया का अनुमान पुराने वाले की तरह ही है। इस सर्वे में भी नीतीश कुमार के नेतृत्व में बहुत आसानी से एनडीए की एकबार फिर सरकार बनने का अनुमान लगाया गया है। खबरिया चैनल आज तक और सीएसडीएस-लोकनीति के अनुसार, विधानसभा की कुल 243 में से एनडीए को 133 से 143 सीटें मिल सकती हैं। वहीं, राजद के नेतृत्व वाले महागठबंधन को 88 से 98 के बीच सीटें मिल सकती हैं। लोजपा को इस सर्वे में भी बहुत कम सीटें मिलने का अनुमान है। चिराग पासवान की पार्टी को दो से छह सीटें भी मिल जाएं तो बहुत है। अन्य को 6 से लेकर 10 सीटें दी गई हैं। इनमें निर्दलीय भी हैं। सर्वे के मुताबिक, मुख्यमंत्री पद के लिए लोगों की पसंद अभी भी नीतीश कुमार हैं। हालांकि तेजस्वी यादव बेहद कम अंतर से पीछे हैं। बता दें कि पिछला सर्वे टाइम्स नाउ ने किया था। जिसमें एनडीए को 160 सीटें तो महागठबंधन को 76 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया था। अन्य को 7 सीटें थीं, जिनमें लोजपा को पांच सीटें मिलने का अनुमान लगाया गयाथा। महागठबंधन में राजद को 56 सीटें, कांग्रेस को 15 और लेफ्ट को 5 सीटें मिलने की बात कही गई थी।

बिहार विधानसभा चुनाव से पहले हुए इस सर्वे में 37 विधानसभा सीटों के 148 बूथों पर लोगों की राय जानने की कोशिश की गई है। सर्वे में 3 हजार 731 लोगों की राय है। यह सर्वे 10 से 17 अक्टूबर के बीच का है। सर्वे के मुताबिक 31 फीसदी लोग नीतीश कुमार को फिर से मुख्यमंत्री बनते देखना चाहते हैं। महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद के दावेदार तेजस्वी प्रसाद यादव उनसे महज चार फीसदी पीछे हैं। यानी 27 प्रतिशत लोग चाहते हैं कि तेजस्वी यादव मुख्यमंत्री बनें। वहीं, पांच प्रतिशत लोग चाहते हैं कि चिराग पासवान को कुर्सी मिले। भाजपा नेता सुशील मोदी को सिर्फ चार प्रतिशत लोगों ने पसंद किया है। सर्वे के मुताबिक 38 फीसदी लोगों ने कहा कि वे एनडीए को वोट देंगे, जबकि 32 प्रतिशत ने महागठबंधन के पक्ष में वोट करने की बात कही। छह फीसदी लोगों ने चिराग पासवान की पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी के पक्ष में वोट देने की बात कही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *