भागलपुर में गहराया भाजपा-जदयू का मतभेद

पटना। बिहार में विधानसभा चुनाव के साथ-साथ पर्दे के पीछे एनडीए में कलह भी जारी है। कई विधानसभा क्षेत्रों में भाजपा और जदयू के कार्यकर्ता एक-दूसरे के खिलाफ काम कर रहे हैं। जदयू को चिराग पासवान की लोजपा अलग नुकसान पहुंचा रही है। एनडीए के लिए चिंता इस बात से और बढ़ गई है कि जो मतभेद अब तक पर्दे के पीछे था, वह सार्वजनिक होने लगा है। ऐन चुनाव के बीच इससे सत्तारूढ़ गठबंधन को नुकसान होना तय है।
ताजा मामाल भागलपुर का है। वहां के जदयू सांसद अजय मंडल खुलेआम भाजपा का विरोध कर रहे हैं। जिले में जिन सीटों पर भाजपा चुनाव लड़ रही है, वहां जदयू सांसद भितरघात कर रहे हैं। इससे जदयू कार्यकर्ता से लेकर नेता तक हैरान हैं। वह भाजपा उम्मीदवार ललन पासवान के खिलाफ चुनाव लड़ रहे निर्दलीय अमन कुमार का प्रचार कर रहे हैं। बता दें कि अमन कुमार वहां से पहले विधायक थे। लेकिन 2015 में भाजपा ने उन्हें टिकट नहीं दिया था। इस बार वह बतौर निर्दलीय चुनाव मैदान में हैं तो जदयू सांसद अजय मंडल मजबूती के साथ उनके पक्ष में खड़े हो गए हैं। यह बताता है कि पहले से ही कई तरह के संशयों के साथ चुनाव में उतरे जदयू और भाजपा के रिश्ते सुधरने के बजाय बिगड़ते ही जा रहे हैं। इसलिए प्रचार के भागलपुर पहुंचे भाजपा के वरिष्ठ नेता और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को स्थानीय सांसद अजय मंडल को चेतावनी देनी पड़ी। इस क्रम में उन्होंने यहां तक धमकी दे दी कि इस भितरघात का बदला लोकसभा चुनाव के समय उनसे लिया जाएगा। इस धमकी का असर यह हुआ कि सांसद को सफाई देनी पड़ गई। अजय मंडल ने कहा है कि सुशील मोदी को जरूर कोई गलतफहमी हुई है। मैं गठबंधन का कतई विरोध नहीं कर रहा हूं। लेकिन उन्होंने इस सवाल का जवाब नहीं दिया कि अगर साथ काम कर रहे हैं तो सुशील मोदी के साथ मंच पर क्यों नहीं दिखे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *