कोरोना के कारण नहीं होगा संसद का शीत सत्र, जनवरी में होगा बजट सत्र

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के कारण इस बार संसद का शीतकालीन सत्र नहीं होगा। अब जनवरी में सीधा बजट सत्र होगा। सभी राजनीतिक दलों की सहमति के बाद यह फैसला लिया गया है।

संसदीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कांग्रेस नेता अधीर रंजन को लिखे पत्र में यह जानकारी दी है। प्रह्लाद जोशी ने यह पत्र किसान आंदोलन को लेकर संसद का सत्र बुलाने की मांग के जवाब में लिखा है। अधीर रंजन ने विवादित नए कृषि कानूनों पर चर्चा की मांग की थी। इसके जवाब में संसदीय कार्य मंत्री ने लिखा कि उन्होंने सभी दलों के नेताओं से विचार-विमर्श किया और सबने सत्र नहीं बुलाने पर सहमति दे दी है। ऐसे में जनवरी 2021 बजट सत्र के लिए उपयुक्त है। हालांकि कांग्रेस का कहना है कि सरकार ने फैसला लेने से पहले उसके साथ विचार-विमर्श नहीं किया।

संसदीय मंत्री ने अपने पत्र में याद दिलाया है कि कैसे कोरोना संकट के कारण इस बार मानसून सत्र भी सितंबर में हो पाया था, जिसमें काफी सावधानी बरती गई थी। हालांकि तब 10 दिन सत्र चला था और 27 बिल पारित हुए थे। उसी दौरान तीन कृषि बिल भी पास हुए थे, जिनका विरोध किसान कर रहे हैं। संसदीय कार्य मंत्री के अनुसार, कोरोना महामारी को काबू करने की रणनीति में सर्दियों का समय बहुत अहम है। अभी दिसंबर का मध्य चल रहा है और कोरोना वैक्सीन जल्द इजाद होने वाली है। मैंने शीतकालीन सत्र को लेकर दोनों सदनों के सदस्यों से चर्चा की। सभी ने कोरोना महामारी के हालात पर चिंता जाहिर की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *