बंगाल में चौथे चरण में फायरिंग, चार की मौत, कूचबिहार में नेताओं के प्रवेश पर रोक

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव का चौथा चरण लहूलुहान हो गया। शनिवार को हुगली, हावड़ा, दक्षिण 24 परगना, कूचबिहार और अलीपुरद्वार जिलों की 44 सीटों पर 76.16 प्रतिशत मतदान हुआ। इस दौरान भारी हिंसा हो गई। कूचबिहार के सीतलकूची में उपद्रवियों ने सीआरपीएफ जवान से राइफल छीनने की कोशिश की। बूथ नंबर 126 पर जवानों पर हमला कर दिया गया। बदले में सीआरपीएफ की फायरिंग में चार लोगों की मौत हो गई। इस घटना के बाद वहां मतदान रोक दिया गया। इसके साथ ही चुनाव आयोग ने पूरे कूचबिहार जिले में किसी भी राजनीतिक नेता के 72 घंटों तक प्रवेश करने पर रोक लगा दी है।

ममता बनर्जी और उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने मरने वालों को अपना कार्यकर्ता बताया है। सीआरपीएफ के जवानों पर भाजपा कार्यकर्ता के रूप में काम करने का आरोप लगाया है। मुख्यमंत्री ने इस फायरिंग के लिए सीधे-सीधे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को जिम्मेदार ठहराया है। जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घटना की निंदा की है। जान गंवाने वालों के लिए शोक जताया है। उधर, कूचबिहार में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच झड़प के बाद पठानतुली इलाके में बदमाशों ने 18 वर्षीय मतदाता आनंद बर्मन की गोली मारकर हत्या कर दी। दोषियों की पहचान अभी नहीं की गई है। इस घटना के बाद इलाके में हिंसा भड़क उठी। इसस कारण केंद्रीय बलों को हालात को काबू में करने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा। तृणमूल कांग्रेस और भाजपा दोनों ने दावा किया कि बर्मन उनकी पार्टी से जुड़ा था। लेकिन परिवार ने कहा कि वह भाजपा का कार्यकर्ता था। साथ ही आरोप लगाया कि अपनी हार को देखते हुए ममता और उनकी पार्टी हिंसा भड़का रही है।

बता दें कि बंगाल की कुल 294 विधानसभा सीटों के लिए 8 चरणों में वोटिंग होनी है। परिणाम चार अन्य राज्यों के साथ दो मई को आएंगे। वैसे शनिवार को जिन 44 सीटों पर मतदान हुआ, उनमें हावड़ा जिले की 9, दक्षिण 24 परगना की 11, अलीपुरद्वार की पांच, कूचबिहार की नौ और हुगली की 10 सीटें शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *