फिल्म सिटी पर यूपी के प्रोजेक्ट से शिवसेना परेशान

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में फिल्म सिटी बनना महाराष्ट्र को हजम नहीं हो रहा है। इस पर दोनों सरकारें आमने-सामने आ गई हैं। शिवसेना और एनसीपी जहां नोएडा फिल्म सिटी को महाराष्ट्र के खिलाफ साजिश करार दे रही हैं, वहीं यूपी सरकार ने कहा है कि बॉलीवुड अंडरवर्ल्ड के दबाव में है। उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री मोहसिन रजा ने कहा कि अंडरवर्ल्ड के दबाव के कारण ही नोएडा में फिल्म सिटी बनाने का विरोध हो रहा है। जबकि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने साफ कहा है कि वह मुंबई से फिल्म उद्योग को किसी भी कीमत पर कहीं और नहीं ले जाने देंगे। उन्होंने कहा कि कम्पटीशन होना अच्छी बात है। लेकिन धमकाकर कोई ले जाना चाहेगा तो मैं वह होने नहीं दूंगा। उन्होंने बुधवार को मुंबई में मौजूद उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का नाम लिए बिना उन पर जमकर निशाना साधा। कहा, दम है तो यहां के उद्योग को बाहर ले जाकर दिखाएं। इस पर योगी ने कहा कि हम कहीं कुछ नहीं ले जा रहे। मुंबई फिल्म सिटी मुंबई में ही काम करेगी, जबकि यूपी में नई फिल्म सिटी को नई आवश्यकताओं के अनुसार एक नए वातावरण में विकसित किया जा रहा है।

दरअसल, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार को मुंबई दौरे पर थे। पहले उन्होंने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में लखनऊ नगर निगम के बांड लांच किए। इसके बाद नोएडा में फिल्म सिटी बनाने को लेकर कई फिल्मी हस्तियों से मशविरा किया। इसी से विवाद शुरू हो गया। शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा, सीएम योगी मुंबई आए हैं। हमारे साधु महाराज हैं, योगी हैं और एक फाइव स्टार होटल में एक बड़े कमरे में रुके हैं। अक्षय कुमार भी उनके साथ बैठे हैं। मुंबई की फिल्म सिटी को यहां से लेकर जाने की बात करते हैं। ये तो एक प्रकार का मजाक है। यह इतना आसान नहीं होगा। बहुत पुराना इतिहास है और हम सब का खून पसीना बहा है।’ वह यहीं नहीं रुके। कहा- ‘मैं सीएम योगी से एक सवाल करना चाहता हूं कि आप बहुत बड़ा प्रोजेक्ट बनाना चाहते हैं। बनाइए, लेकिन नोएडा में जो फिल्म सिटी बनी है उसको क्या हो गया? उसकी क्या हालत है, कितनी शूटिंग होती है? कितनी फिल्म का निर्माण होता है? इसके बारे में भी मुंबई में आए हैं तो बताएं।’ उन्होंने कहा कि फिल्म सिटी सिर्फ मुंबई में नहीं, दक्षिण के कई राज्यों में भी है। कर्नाटक, पंजाब, पश्चिम बंगाल में है तो क्या सीएम योगी उत्तर प्रदेश में फिल्म सिटी बनाने के लिए अन्य राज्यों में भी जाएंगे? वहां के कलाकार से बात करेंगे या फिर उनका मतलब सिर्फ मुंबई से है।

इस विवाद पर मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि फिल्म उद्योग को मुंबई से बाहर ले जाने का उनका कोई इरादा नहीं है। हम किसी का निवेश नहीं छीन रहे हैं। यह कोई पर्स नहीं है जिसे ले जाया सकता है। यह खुली प्रतिस्पर्धा है। जो सुरक्षित माहौल, बेहतर सुविधाएं और विशेष रूप से सामाजिक सुरक्षा दे सकेगा, उसे निवेश प्राप्त होगा। साथ ही कहा कि निर्माता, निर्देशक, एक्टर और फिल्म जगत के विभिन्न पक्षों के जानकारों के साथ भी फिल्म सिटी को लेकर चर्चा हुई। यह फिल्म सिटी जेवर एयरपोर्ट से छह किमी की दूरी पर होगी। यहां से आगरा एक घंटे की दूरी पर है। वहीं, मुंबई में उद्योगपतियों से बातचीत के दौरान योगी आदित्यनाथ ने कहा कि फिल्म जगत से जुड़े हुए लोगों को सरकार के साथ मिलकर उत्तर प्रदेश में फिल्म सिटी के निर्माण में अपनी भागीदारी करनी चाहिए। यह सरकारी प्रोजेक्ट बनकर नहीं रहना चाहिए। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सरकार ने गौतमबुद्ध नगर में यमुना एक्सप्रेसवे के पास एक फिल्म सिटी स्थापित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *