कोरोना 20 में, वैक्सीन 21 में

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस की वैक्सीन अगले साल आ सकती है। यह जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने मंगलवार को दी। वैक्सीन एक से ज्यादा सोर्स से उपलब्ध हो सकती है। स्वास्थ्य मंत्री मंत्रियों के समूह की 21वीं बैठक में में बोल रहे थे। इस दौरान उनके साथ नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी और विदेश मंत्री एस.जयशंकर भी थे।

बता दें कि स्वास्थ्य मंत्री का यह बयान ऐसे वक्त आया है जब दो वैक्सीन का ट्रायल भारत में रुक गया है। अमेरिकी दवा निर्माता फीजर व उसकी जर्मन साझेदार बायोएनटेक, अमेरिकी मॉडर्ना तथा ब्रिटेन की एस्ट्राजेनेका व सहयोगी ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता दो महीने से ज्यादा समय से चल रहे बड़े पैमाने पर परीक्षण के परिणाम के बारे में सबसे पहले जानकारी दे सकते हैं। हालांकि जानसन एंड जानसन की वैक्सीन का ट्रायल रोक दिया गया है। ऐसा ट्रायल के दौरान एक शख्स के बीमार पड़ जाने के कारण किया गया है। इससे पहले ‘संडे संवाद’ कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, ”हमारे पास वैक्सीन के लिए 40 कैंडिडेट हैं जो कि क्लीनिकल ट्रायल के अलग-अलग स्तर पर हैं। उनमें से 10 तीसरे चरण में हैं। ये हमें बताएंगे कि वैक्सीन कितनी सुरक्षित है।” उन्होंने यह भी कहा था कि भारत सरकार का लक्ष्य है कि जुलाई 2021 तक 25 करोड़ लोगों के टीकाकरण की व्यवस्था उपलब्ध हो जाए। उन्होंने कहा कि वैक्सीन तैयार हो जाने के बाद टीकाकरण की योजना बनाई जा रही है। वहीं डब्ल्यूएचओ की मुख्य वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने कहा कि 2020 के आखिर तक या अगले साल के शुरू में रजिस्ट्रेशन के लिए एक टीका तैयार हो जाएगा।

इस बीच, मंगलवार को कोरोना से जुड़ी राहत भरी खबर सामने आयी है। देश में कोरोना के रोजाना नए मामले घटे हैं। पिछले 24 घंटे में देश भर में कोरोना के 55 हजार 342 नए केस सामने आए हैं जबकि 706 लोगों की मौत हुई है। नए केस की बात करें तो यह संख्या पिछले दो महीने में सबसे कम है। यह राहत की खबर इसलिए भी है क्योंकि इससे पहले रोजाना 70 से 80 हजार केस देश भर से आ रहे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *