छठ पर रिलीज होगी मैथिली फिल्म ‘गामक घर’

दीपक कुमार झा, दरभंगा। बहुचर्चित मैथिली फिल्म ‘गामक घर’ छठ के शुभ अवसर पर 27 नवंबर को रिलीज होगी। यह जानकारी मंगलवार को फिल्म के निर्देशक अचल मिश्रा ने दी। वह दरभंगा में पत्रकारों से बात कर रहे थे।

‘गामक घर’ मैथिली भाषा में बनी एक ऐसी फिल्म है, जिसने राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई पुरस्कारों और सम्मानों को प्राप्त किया है। फिलहाल इस फिल्म की प्री बुकिंग मात्र 99 रुपये में हो रही है, जबकि 27 नवंबर से इसे 149 रुपये में cinemapreneur.com पर देखा जा सकता है।

इसे मामी फिल्म फेस्टिवल, मुंबई में ‘न्यू वॉइस ऑफ इंडियन सिनेमा’ के लिए ‘मनीष आचार्य अवार्ड’, न्यूयॉर्क इंडियन फिल्म फेस्टिवल में ‘बेस्ट डायरेक्टर अवॉर्ड’, कोसैफ 2020 और इंडिक फिल्म उत्सव’ में सर्वोत्तम फिल्म पुरस्कार, एनएफडीसी फिल्म बाजार में ‘नए निर्देशक की सर्वाधिक बहु प्रसिद्ध फिल्म पुरस्कार’ से नवाजा जा चुका है। ब्राजील के प्रतिष्ठित फिल्म निर्देशक फर्नांडो मेरेल्स ने इसकी प्रशंसा करते हुए कहा है कि फिल्म में घर को नायक के रूप में दिखाना और इसके इर्द-गिर्द कहानी बुनना उल्लेखनीय है। प्रसिद्ध फिल्म अभिनेता पंकज त्रिपाठी ने कहा है कि फिल्म ने मुझे मेरे अतीत की याद दिला दी और आंखों में आंसू आ गए।

पत्रकारों से बातचीत में इस फिल्म के निर्देशक अचल मिश्रा ने कहा कि वह अपने पुश्तैनी घर के पुनर्निर्माण से पहले उसकी यादों को संजोकर रखना चाहते थे। यहीं से उन्हें इस फिल्म के निर्माण का विचार आया। वह एक ऐसी फिल्म बनाना चाहते थे, जिसकी भाषा भले ही मैथिली हो परंतु उसमें जीवन के सार्वभौमिक कथ्य प्रेषित होता हो। इसमें वह सफल भी हुए। यह फिल्म बिहार की पहली ऐसी है जिसे कलाकार, निर्देशक और मीडिया ने इतने व्यापक स्तर पर सराहा है। फिल्म के निर्माता डॉ. प्रेमनाथ मिश्रा ने लोगों से इसे देखने की अपील की। खासकर मिथिला के लोगों से, ताकि यहां नियमित रूप से फिल्म का निर्माण होता रहे और रोजगार का अवसर मिल सके। फिल्म के अभिनेता और संवाद लेखक डॉ. सत्येंद्र झा ने कहा कि यह फ़िल्म वैश्विक संवेदना से जुड़ी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *