चीन में दो महीने से गायब हैं अलीबाबा ग्रुप के मालिक जैक मा

नई दिल्ली। एशिया के सबसे अमीरों में से एक अलीबाबा समूह के मालिक जैक मा को लेकर परेशान करने वाली खबर है। वह दो महीनों से लापता हैं। वह अक्टूबर में चीन सरकार की नीतियों के खिलाफ बोलने के बाद से ही नहीं दिख रहे हैं। उन्हें नवंबर में अपने टैलेंट शो ‘अफ्रीका के बिजनेस हीरोज’ के अंतिम एपिसोड में आना था, लेकिन उसमें भी वह नहीं आए। हालांकि अलीबाबा के प्रवक्ता ने कहा था कि जैक मा काफी व्यस्त रहने के कारण इस एपिसोड में भाग नहीं ले सके।लेकिन उनकी बात तब बेमानी हो गई जब कार्यक्रम की वेबसाइट से जैक मा की तस्वीर को हदा दिया गया।
जैक मा ने शंघाई में 24 अक्तूबर को दिए एक भाषण में चीन के वित्‍तीय नियामकों और सरकारी बैंकों की नीतियों को काफी बुरा-भला कहा था। उन्होंने चीन सरकार से ऐसे सिस्‍टम को बदलने की मांग की थी, जो नए कारोबारियों को बढ़ावा देने के बजाय दबाने का काम करते हैं। उन्होंने बैंकिंग नियमों की तुलना ‘पुराने लोगों के क्लब’ से की थी। कहा था कि आज की वित्तीय प्रणाली औद्योगिक युग की विरासत है। हमें अगली पीढ़ी और युवा लोगों के लिए एक नई स्थापना करनी चाहिए। हमें वर्तमान प्रणाली में सुधार करना चाहिए। बताते हैं कि जैक मा की बातों पर राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने नाराजगी जताई थी। द वॉल स्ट्रीट जर्नल के अनुसार, उनके इस भाषण के बाद ही नवंबर में राष्ट्रपति के सीधे आदेश पर उनकी कंपनी के साथ 37 बिलियन डॉलर के करार को भी खत्म कर दिया गया था। इसके साथ ही जैक मा के एंट ग्रुप सहित कई कारोबारों पर असाधारण प्रतिबंध लगने लगे। उनकी कंपनी के आईपीओ को रद्द कर दिया गया। इसके बाद से ही वह किसी सार्वजनिक समारोह आदि में दिखाई देने बंद हो गए हैं। इतना ही नहीं, क्रिसमस पर अलीबाबा ग्रुप होल्डिंग में जांच शुरू कर दी गई। डेली मेल के मुताबिक, एंटी-मोनोपॉली जांच के कारण अलीबाबा के शेयरों में भारी गिरावट आई है। इससे चीन के सबसे धनी लोगों की सूची में जैक मा तीसरे नंबर पर आ गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *