ट्रंप ने भारत को गंदा कहा

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक पार्टी के उनके प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन के बीच राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए अंतिम आधिकारिक बहस (प्रेसिडेंशियल डिबेट) हो गई। इस बहस के दौरान जहां कोरोना संक्रमण को लेकर ट्रंप और जो बिडेन के बीच तीखी बहस हुई। ट्रंप के कोरोनावायरस से संक्रमित होने के कारण बिडेन आमने-सामने बहस करने को लेकर चिंतित थे। बता दें कि अमेरिका में तीन नवंबर को राष्ट्रपति चुनाव होने हैं। ऑनलाइन बहस से ट्रंप के इंकार करने के बाद 15 अक्टूबर को होने वाली दूसरी बहस को रद्द कर दिया गया था। इससे पहले, दोनों के बीच पिछले महीने हुई पहली बहस काफी गर्मागर्म रही थी।

भारतीय समयानुसार शुक्रवार सुबह हुई आखिरी बहस में एकबार फिर जलवायु परिवर्तन से लेकर, कोविड-19 और नस्लभेद जैसे मुद्दे छाए रहे। इस दौरान ट्रंप ने भारत का भी नाम लिया। कहा, ‘चीन को देखिए, कितना गंदा है। रूस को देखिए, भारत को देखिए, वे बहुत गंदे हैं। हवा बहुत गंदी है।’ ट्रंप के इस बयान के बाद भारतीयों का गुस्सा फूट पड़ा है। सोशल मीडिया पर न सिर्फ ट्रंप को लोगों ने डेटा के जरिए आईना दिखाया, बल्कि इनके निशाने पर पीएम मोदी भी आ गए और इनसे जवाब मांगा। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने इसी बहाने मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट किया, ट्रंप ने पहले भारत में कोरोना के कारण मौतों को लेकर सवाल उठाए, अब कहा कि हवा में भारत गंदगी भेज रहा है। ट्रंप ने भारत को टैरिफ किंग कहा। यह ‘हाउडी मोदी’ का परिणाम है।

बहरहाल, बहस में बिडेन पर हमला बोलते हुए ट्रंप ने कहा, साफ हवा की बात मैं कहीं अधिक जानता हूं। अमरिका में कार्बन उत्सर्जन सबसे कम है। भारत, चीन और रूस को देखिए, उन्होंने हवा ज्यादा खराब की है। वे जलवायु परिवर्तन की इस लड़ाई में रिकॉर्ड खराब कर रहे हैं।’ बिडेन ने जवाब देते हुए कहा, ‘क्लाइमेट चेंज दुनिया में बहुत बड़ा मुद्दा है लेकिन ट्रंप इसे हमेशा से मजाक में लेते हैं जबकि यह पूरी मानवता के लिए खतरा बना हुआ है। हमने इस पर योजना तैयार की है। इसके जरिए नौकरियां भी दी जाएंगी। हम ऑयल एनर्जी की जगह रिन्यूवल एनर्जी पर फोकस करना चाहते हैं।

तीसरी बहस के दौरान ट्रंप ने कोविड-19 का टीका ‘तैयार’ होने का दावा किया। कहा कि ‘कुछ सप्ताह’ में इसकी घोषणा की जाएगी। ट्रंप ने दावा किया कि उन्होंने वैश्विक महामारी से निपटने की दिशा में अच्छा काम किया है और देश को ‘उसके साथ रहने की आदत डालनी होगा।’ इस पर बिडेन ने कहा कि ट्रंप के पास कोई योजना नहीं है। उन्होंने कहा, ‘वह (ट्रंप) हमेशा कहते हैं कि लोग इसके साथ जीना सीख रहे हैं। लोग इसके साथ मरना सीख रहे हैं।’ बिडेन ने कहा, ‘ मैं इससे निपटूंगा। मैं यह सुनिश्चित करूंगा कि हमारे पास इसके लिए कोई योजना हो।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *