इग्नू है तो डिग्री का क्यों गम है

दरभंगा। इग्नू ओपन व दूरस्थ अध्ययन का सबसे बड़ा राष्ट्रीय विश्वविद्यालय है। शिक्षण, प्रशिक्षण व अनुसंधान आदि इसकी मुख्य गतिविधियां है। इसके माध्यम से सस्ता व सुलभता से तकनीकी व उच्च शिक्षा घर बैठे या नौकरी करते हुए प्राप्त किया जा सकता है। उक्त बातें सीएम कॉलेज के प्रधानाचार्य प्रो. विश्वनाथ झा ने कर्मचारियों की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही। प्रधानाचार्य ने कहा कि महाविद्यालय के इग्नू अध्ययन केंद्र में उपलब्ध उच्च शिक्षा व प्रोफेशनल कोर्सों का छात्र अधिक से अधिक लाभ उठाएं। उन्होंने समन्वयकों व कर्मचारियों से दत्तचित्त होकर सेवाभाव से छात्रहित में काम करने व उपलब्ध कोर्सों की अधिक से अधिक जानकारी आमलोगों को उपलब्ध कराने की सलाह दी। इग्नू अध्ययन केंद्र के समन्वयक डॉ. आरएन चौरसिया ने कहा कि 1985 में स्थापित केंद्रीय विवि इग्नू दुनिया का सबसे बड़ा ओपन विवि है। इसमें नामांकन व परीक्षा प्रतिवर्ष दो-दो बार होती है। कोरोना के कारण इस बार 15 दिसंबर तक ऑनलाइन नामांकन व अगली परीक्षा की असाइनमेंट जमा करने की तिथि बढाई गई है। उन्होंने बताया कि इग्नू बीए, बीकॉम, एमए, एमकॉम के अतिरिक्त आपदा प्रबंधन, पर्यटन व पर्यावरण अध्ययन, मानवाधिकार, ग्रामीण विकास, पुस्तकालय व सूचना विज्ञान, फूड एंड न्यूट्रिशन कोर्स, एनजीओ- प्रबंधन, क्रिएटिव राइटिंग, चाइल्ड केयर, हेल्थ केयर, पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन व अंतरराष्ट्रीय व्यापार आदि तकनीकी कोर्स भी उपलब्ध हैं। समन्वयक ने बताया कि स्टडी सेंटर बुधवार से शनिवार तक अपराह्न दो से पांच बजे तक व रविवार को 10 से चार बजे तक खुला रहता है। जबकि सोमवार व मंगलवार को साप्ताहिक अवकाश रहता है। बैठक में डॉ. वासुदेव साहु, डॉ. शिशिर कुमार झा, प्रो. अमृत कुमार झा, डॉ. वीरेंद्र कुमार झा, विपिन कुमार सिंह, कमलेश कुमार, उमाशंकर, सुरेश पासवान, शशि कुमार व त्रिलोकनाथ चौधरी आदि शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *