सीएम लॉ कॉलेज और महिला आईटीआई के बहुरेंगे दिन

दीपक कुमार झा, दरभंगा। कुलपति प्रोफेसर सुरेंद्र प्रताप सिंह ने ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के चौमुखी विकास की ओर कदम रख दिया है। अपने कार्यकाल के सौ दिन पूरे होने पर उन्होंने कहा कि हमने ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय को बिहार ही नहीं, देश का मॉडल विश्वविद्यालय बनाने के उद्देश्य से नए नए प्रोफेशनल कोर्स आरंभ करने का निर्णय लिया है। सीएम लॉ कालेज की आधारभूत संरचना, कैम्पस, पुस्तकालय, कोर्स आदि में बदलाव के लिए समिति बना दी है। साथ ही एलएलबी कोर्स में सुधार और एलएलएम की पढ़ाई से संबंधित सुझाव देने के उद्देश्य से भी एक समिति बनाई गई है। इसमें पटना विश्वविद्यालय के अध्यक्ष सह संकायाध्यक्ष प्रो सीपी सिंह और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के डॉ. सलीम जावेद को बाहरी विशेषज्ञ बनाया गया है। इसी तरह महिला प्रौद्योगिकी संस्थान (आईटीआई) में सुधार और एमटेक की पढ़ाई, पी-एचडी, डी एस-सी डिग्री हेतु गुणवत्ता पूर्ण शोध आरंभ करने की दृष्टि से सुझाव आमंत्रित करने के लिए भी समिति बनाई गई है। इसमें केएनआईटी के पूर्व निदेशक प्रो. आरएस गुप्ता और लखनऊ स्थित इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी विश्वविद्यालय के संकायाध्यक्ष को विशेषज्ञ बनाया गया है।

उन्होंने कहा कि नैक में पांच सालों के कार्यों का मूल्यांकन होता है और कुलपति का कार्यकाल तीन वर्षों का ही होता है। 2015 से 2020 में किए गए कार्यों पर‌ तृतीय चक्र का नैक मूल्यांकन होना है। लेकिन सौ दिनों में मैंने आकलन किया है कि यदि अभी विश्वविद्यालय का नैक निरीक्षण कराया जाए तो वर्तमान स्थिति में विश्वविद्यालय को पूर्व में प्राप्त ग्रेडिंग से कम अंक प्राप्त होंगे। इसलिए पूर्व की निरीक्षण पद्धति से वर्तमान पद्धति कठिन हो गई है। इन सभी बिन्दुओं को ध्यान में रखते हुए एक-एक कर भवनों, विभागों का निरीक्षण और प्रशासनिक फेरबदल कर यह संकेत दे दिया है कि सबों को अपने-अपने हिस्से का कार्य करना होगा। हम‌ जानते हैं कि विभागों, कार्यालयों में अर्थ एवं मानवशक्ति की कमी है। हम उसे भी दूर करने का प्रयास कर रहे हैं। हमने पाया है कि विभागों का साधारण रखरखाव,साफ सफाई भी उपलब्ध संसाधनों के अनुरूप नहीं हो रही है। इस सबको जल्द से जल्द सुधार लिया जाएगा। कुलपति ने कहा कि परिणाम एक दिन या एक कार्यकाल में आना संभव नहीं है, पर हमारे कार्यकाल में विकास से संबंधित जो कार्य किए जा रहे हैं उसके अच्छे परिणाम अवश्य आएंगे। ये परिणाम अगले कुलपति के कार्यकाल में प्राप्त होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *