दंड से नहीं बच पाए चुनाव प्रशिक्षण से बचने वाले

दरभंगा। इसे कहते हैं विरोधाभास। आम मतदाता जहां विधानसभा चुनाव को लेकर उत्साह से लबालब है, वहीं मतदान कार्य की ट्रेनिंग लेने वाले उदासीन। इतने कि तीन अक्तूबर को डीएमसीएच ऑडिटोरियम में चुनाव प्रशिक्षण कार्यक्रम में हिस्सा ही नहीं लिया। जाहिर है, जिलाधिकारी सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम को बात बुरी लगी। उन्होंने इतने महत्वपूर्ण कार्य में लापरवाही और उच्चाधिकारी के आदेश की अवहेलना के आरोप में कई शिक्षकों के अगले आदेश तक वेतन रोक दिए हैं। जिन पर गाज गिरी है, वे हैं-प्लस टू पूर्वांचल उच्च विद्यालय, आरएस टैंक लहेरियासराय के नियोजित शिक्षक संजीव कुमार, प्लस टू ओंकार उच्च विद्यालय, सुपौल बाजार के सहायक शिक्षक राहुल कुमार झा और प्लस टू विदेह उच्च विद्यालय उघरा के नियोजित शिक्षक शंभू कुमार साह। बताया गया है कि पूर्व निर्धारित प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहने के कारण ऐसा किया गया है। उनसे स्पष्टीकरण भी मांगा गया है। जिलाधिकारी ने उन्हें यह चेतावनी भी दी है कि इस लापरवाही के लिए जनप्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 एवं निर्वाचन संचालन नियमावली 1961 की सुसंगत धाराओं के तहत क्यों न दंडात्मक कदम क्यों ना उठाया जाए।

—-

बीमार चुनाव कर्मियों के लिए मेडिकल बोर्ड

दरभंगा। विधानसभा चुनाव के मद्देनजर चुनाव ड्यूटी करने वाले कर्मियों की बीमारी को लेकर मेडिकल बोर्ड बनाया गया है। इसकी जरूरत उन आवेदनों के कारण पड़ी, जो असाध्य रोग, दुर्घटना, विकलांगता या अन्य बीमारी के आधार पर विमुक्त करने की खातिर जिला कार्मिक कोषांग को दिए जा रहे हैं। जिलाधिकारी सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम द्वारा ऐसे कर्मियों की शारीरिक जांच करने के लिए जिला स्तर पर बनाए गए बोर्ड में चार सदस्य होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *