बदहाली पर केंद्रीय पुस्तकालय के प्रभारी को हटाया, कर्मियों के वेतन कटे

दरभंगा। ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो सुरेंद्र प्रताप सिंह ने महाराजा कामेश्वर सिंह पुस्तकालय एवं शोध संस्थान और केंद्रीय पुस्तकालय का निरीक्षण किया। इस क्रम में कई गड़बड़ियां पाई गईं। कुलपति ने कहा कि पांडुलिपियों, पुस्तकों के रखरखाव, साफ- सफाई को देखने से लगता है कि ये संस्थाएं काम ही नहीं कर रही हैं।

उन्होंने कहा कि अधिकारियों से लेकर कर्मचारियों तक किसी ने भी अपनी जिम्मेदारी नहीं निभाई है। भवनों की जर्जर स्थिति, फूटे शीशे, जंग लगे तार की खिड़कियां, दीवारों पर छत से शीलन, चारों ओर पसरी गंदगी आदि को देख ऐसा लग रहा था कि वर्षों से कई कमरे खुले ही नहीं हैं। कुलपति ने पुस्तकालय के वरीयतम सहायक से कई मौलिक जानकारियां जाननी चाही, पर कुछ नहीं बता पाए। मौके पर ही उन्होंने केंद्रीय पुस्तकालय के प्रभारी और पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञान संस्थान के निदेशक को तत्काल हटाने का निर्देश दिया। साथ ही सभी कर्मचारियों का 15 दिनों का‌ वेतन काटने का मौके पर ही ‌निर्देश दिया। दोनों अभियंताओं को निर्देशित किया गया कि छतों, खिड़कियों आदि की मरम्मत का प्रस्ताव बनाकर प्रस्तुत करें। निरीक्षण में कुलपति के साथ प्रतिकुलपति प्रो डॉली सिन्हा, अध्यक्ष छात्र कल्याण डॉ अशोक कुमार झा, कुलानुशासक प्रो. अजय नाथ झा, विज्ञान संकायाध्यक्ष प्रो. रतन कुमार चौधरी आदि भी थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *